Yoga: झुर्रियों से छुटकारा पाने के लिए चेहरे के मालिश और व्यायाम

chehre ke liye yoga in hindi

भरपूर नींद ले तनाव मुक्त रहें और चर्बी, चीनी, अधिक कॉफी तथा नशीले पदार्थ का सेव न करें। शराब से त्वचा का ऑक्सीजन विटामिन सी और बी शीघ्रता से नहीं होता है और त्वचा झूल जाती है। इसी तरह सिगरेट के निकोटिन से मुँह औ आँखों के आसपास की त्वचा पर झुर्रियाँ जल्दी पड़ती हैं।

जल्दी-जल्द वजन घटने-बढ़ने से भी झुर्रियाँ पड़ती हैं। अत : क्रेश आइटिंग से बचें। हमारे देश में त्वचा को सुखाकर झुर्रियाँ डालने का सबसे बड़ा कारण सूर्य की किरणें, इसलिए इनसे बचने का प्रयास करें। त्वचा पर मॉइश्चराइ हमेशा लगाये तथा बाहर जाने से पहले सनस्क्रीम अवश्य लगायें। आकर्षण बढ़ाया जा सकता है और झुर्रियों का उचार हो सकता है पर नियन्त्रण लाया जा सकता है।

उसी प्रकार नियमित मालिश द्वारा चेहरा जिस प्रकार सन्तुलित आहार और नियमति व्यायाम द्वारा शारीरिक स्थूल मालिश द्वारा मॉस का अनाकर्षक उभार कम होने लगता है, झूलती जाती हैं और शिराओं में माँसपेशियाँ पुष्ट रक्त संचार तीव्रता से होता है। मालिश करने से पूर्व चेहरे की त्वचा को भलीभाँति स्वच्छ कर लेना चाहिए। मालिश के लिए अच्छी किस्म की क्रीम का उपयोग करें। मालिश उचित प्रकार से हो इसके लिए आवश्यक है कि हाथ की उँगुलियों की चेहरे पर पकड़ हो। मालिश सदैव नीचे से ऊपर की ओर करें। 

मालिश ( मसाज ) करने की विधि : सर्वप्रथम बाल हटाकर पीछे की ओर बाँध फिर क्लीजिंग द्वारा चेहरे की सफाई करें।

1. सर्वप्रथम गर्दन की मालिश दोनों हाथों से नीचे से ऊपर की ओर एक के बाद दूसरे हाथ से करें।

2. ठोड़ी के निचले हिस्से की मालिश बीच की दोनों उँगलियों को नीचे से साइड की ओर लायें।

3. अपनी तीन उँगलियों से ठोड़ी की मालिश करें। एक उँगली ऊपर एक उँगली बीच में तथा एक उँगली रखेंगे।

4. अपने दोनों हाथों की उँगुलियों से जबड़े की मालिश करेंगे। एक के बाद दूसरा हाथ चलायेंगे। इसी तरह दोनों हाथों से नीचे से ऊपर की ओर मालिश करेंगे।

5. होंठों के ऊपर व नीचे कैंची की तरह अपने दोनों हाथों से मालिश करेंगे। एक तरफ से दूसरी तरफ तेजी से उँगली चलायेंगे।

6. दोनों हाथों से गालों की मालिश ऊपर से नीचे की ओर कनपटी की ओर लाते हुए एक के बाद दूसरा हाथ चलायेंगे।

7. ओर कनपटी की ओर दोनों हाथों से गालों की मालिश ऊपर से नीचे की लाते हुए एक के बाद दूसरा हाथ चलायेंगे।

8. अधिक फूले-फूले गालों पर थपथपाकर उँगली के पोरों से मालिश करें। और नाकं अधिक चौड़ी होने पर नाक के दोनों ओर ले जायेंगे। फूले हुए गालों पर ही त्वचा को उँगलियों व अँगूठे के बीच चुटकी की तरह भरते हुए नीचे से ऊपर की तरफ मालिश करेंगे।

9. फूले हुए गालों पर ही त्वचा को उँगलियों व अँगूठे के बीच चुटकी की तरह भरते हुए निचे से ऊपर की तरफ मालिश करेंगे।

10. फूले हुए गालों पर ही मुट्ठी बन्द करके आटा गूंथने की स्थिति में हाथों को तेजी से गोलाई में घुमाते हुए कनपटी की ओर लाते हुए मालिश करेंगे।

11. आगे की तीन गलियों से आँख के ऊपर नाक के पास से से आये बाहर की ओर गलियों को फैलाते हुए हल्का सा दबाव डालते हुए मालिश करें।

12. बीच की उँगलियों से आँख की पलकों को गोलाई में घुमाते हुए हल्की हल्की मालिश करें।

13. दोना हाथों की बीच उँगलियों से हल्का-सा दबाव डालते हुए आइब्रो के ऊपरी भाग में कनपटी तक मालिश करें। मालिश इस प्रकार करें कि दोनों हाथ चेहरे के मध्य भाग से बाहर की ओर निकालें।

14. माथे की मालिश दोनों हाथों की दो-दो उँगलियों से कैंची की तरह चलाते हुए बायें हाथ को दायीं और दायें हाथ को बायीं ओर लायें।

15. अपने हाथों की दो-दो उँगलियों से ही माथे के बीच से गोलाई में घुमाते हुए कान के पास लायेंगे।

16. अपने हाथों के अँगूठों को सिर के ऊपर रखकर और उँगलियों को नीचे से ऊपर की ओर तीव्र गति से सम्पूर्ण माथे की मालिश करें।

17. अपने दोनों हाथों को ठोड़ी के ऊपर फँसाकर रखते हुए नीचे से ऊपर की ओर होंठ, गाल, नाक के पास की ओर भौहों के नीचे से निकालते हुए माथे पर लाते हुए नीचे से ऊपर को ले जायेंगे।

18. उँगलियों के अग्रिम भाग को मोड़कर ठोड़ी से गालों की ओर आटा गूंथने की स्थिति में हाथों को तेजी से बुमाकर मालिश करें इस क्रिया द्वारा गालों की झुर्रियों ठीक होती हैं।

झुर्रियों से छुटकारा पाने के लिए चेहरे के योगा (व्यायाम)

चेहरे के सौन्दर्य के लिए चेहरे की माँस पेशियों को सुकोमल ओर पुष्ट बनाये रखना आपका कर्तव्य है और यह सब सम्भव है चेहरे के व्यायाम से। शरीर के अन्य अंगों की भाँति चेहरे हेतु व्यायाम करना भी विशेष लाभप्रद है। चेहरे के लिए व्यायाम दर्पण के सामने बैठकर इस प्रकार करें-

1. मुँह को इस प्रकार पूरा खोलें मानों चीख रही हो। आँखों को विस्तृत करते हुए सामने की ओर ऐसे देखें जैसे घूर रही हों। इस क्रिया को पाँच बार करें। फिर सिर को बायीं ओर तथा दायीं ओर घुमाते हुए पाँच बार यह क्रिया करें।

2. हथेली की सहायता से माथे को जहाँ से बालों की सीमा आरम्भ होती है। पीछे की ओर धीरे-धीरे रगड़िये। आदि माथे पर कोई रेखा पड़ रही हों तो उसे घर्षण द्वारा मिटाने का प्रयास करें।

3. मुँह खोलकर पीछे ले जाइये। पीछे के दाँतों को चलाते हुए मुँह को खोलें व बंद करें। इस क्रिया को दस बार करें।

4. दर्पण के सामने बैठकर होंठों को पहले अन्दर की ओर सिकोड़े फिर मुख में हवा भरकर गालों को फलायें। अब आधे मुख पर हँसने की चेष्टा करें। इससे झूलते हुए गाल पुष्ट हो जायेंगे।

5. होंठों को सिकोड़कर गालों में हवा भरकर फुलाओ अब दोनों तरफ गालों पर तीन-तीन उँगलियाँ रखकर धीरे-धीरे दवायें, परन्तु मुख से हवा न निकलने पाये। दस मिनट इस स्थिति में रहने के पश्चात् हवा निकाल दें। वह गालों की माँसपेशियों को पुष्ट रखने के लिए यह उत्तम व्यायाम है।

झुर्रियों के लिए उपयुक्त क्रीम : झुर्रियों के लिए सबसे बड़ा उपचार है कि त्वचा को शुष्क न होने दें। इसके लिए निम्नलिखित वस्तुयें लाभदायक सिद्ध होती हैं।

1. ग्लिसरीनयुक्त क्रीम

2. सादी फेंटी हुई अण्डे की सफेदी का फैस पैक।

इसके अतिरिक्त बढ़िया मॉइश्चराजर अथवा नाइट क्रीम के प्रयोग से भी झुर्रियाँ दूर रखी जा सकती हैं। चेहरा स्निग्ध बना रहे तो ये झुर्रियाँ देर में पड़ेगी, इसीलिए ऐसी क्रीम का चुनाव करें तो चेहरे को स्निग्ध बनाये रखें।

उम्र के निशाने ऐसे छुपायें : बढ़ती उम्र को पीछे ढकेलने के लिए आवश्यक है कि सही ढंग से मेकअप किया जाये। बढ़ती आ में हल्का मेकअप करें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ